Ticker

6/recent/ticker-posts

Saiyad Shahnawaj Hussain (सैयद शाहनवाज़ हुसैन) : बिहार BJP के उभरते नेता में से एक

सैयद शाहनवाज़ हुसैन एक मुस्लिम चेहरा रहते हुए बिहार में भारतीय जनता पार्टी की तरफ से सबसे बड़े नेता में से एक




सैयद शाहनवाज़ हुसैन भारतीय राजनीति के दिग्गज नेता में से एक है। वे भारतीय जनता पार्टी के प्रखर नेता के साथ साथ प्रवक्ता भी हैं। 


वे बिहार के सुपौल जिला से ताल्लुक रखते हैं । उनका जन्म 12 दिसंबर 1968 को बिहार स्थित सुपौल जिला के वारिसनगर में हुआ था। इनका शैक्षणिक स्तर इलेक्ट्रॉनिक इनजिनियरिंग में डिप्लोमा हैं। 


राजनैतिक जीवन की शुरुआत भारतीय जनता पार्टी युवा मोर्चा के साथ एक सचिव के रूप में हुई। पहली बार इन्होने लोकसभा चुनाव 1999 में किशनगंज से लड़ा। उसके बाद इन्हें खाद्य एवं प्रौद्योगिकी का केंद्रीय राज्य मंत्री एवं खेल और युवा कल्याण का राज्य मंत्री बनाया गया । 


2006 में भागलपुर सीट से लोकसभा चुनाव जितने के बाद विदेशी मामलों की समिति और आर्थिक समिति के सदस्य चुने गए। ये 2009 लोकसभा का चुनाव भी जीते। कुल मिलाकर यह बिहार की राजनीति में 3 बार लोकसभा सांसद रहे एवं वर्तमान (2021) में विधान परिषद् के सदस्य भी हैं।


इस बार बिहार विधान सभा का चुनाव लड़े बगैर इन्हें नीतिश कुमार मंत्रीमंडल में BJP की तरफ से मंत्री पद मिला हैं। 


भारतीय जनता पार्टी के दाव पेंच ने यहाँ के बिहार प्रभारी श्री शुशील कुमार मोदी को राज्यसभा का सदस्य बनाया एवं यहाँ से सैयद शाहनवाज़ हुसैन को नीतिश कुमार के बराबर के नेता के रूप खड़ा किया है। जो आने वाले समय में BJP से बिहार के मुख्यमंत्री के उम्मीदवार भी हो सकते हैं।


इनके जीवन के कुछ पुराने किस्से 

सैयद शाहनवाज़ हुसैन जब ग्रेजुएशन में थे तो उनको एक रेणू शर्मा नाम की लड़की से प्यार हो गया जो एक ब्राह्मण परिवार से संबंध रखती थी। 





भारतीय संस्कृति में प्यार करना तो सही परंतु शादी करना दुसरे धर्म की लड़की से बहुत पेचीदा मामला हो जाता हैं। फिर भी शाहनवाज़ हुसैन ने हार नही मानी करीब 9 साल चले इस प्यार के लम्बे सफ़र के बाद पारिवारिक सहमती से इनकी शादी संपन्न हुई।


इनके दो बेटे हैं। वर्त्तमान में रेणू हुसैन एक सरकारी शिक्षक के रूप में कार्यरत हैं। और शाहनवाज़ हुसैन BJP के काद्दवार नेता हैं।


सैयद शाहनवाज़ हुसैन अटल बिहारी बाजपेयी के सरकार में केंद्रीय मंत्री के रूप में रहे हैं । इसके अलावा दिल्ली वक्फ़ बोर्ड एवं राष्ट्रीय शक्ति फाउंडेशन संस्थाओ के सदस्य भी हैं। 

Post a comment

1 Comments