Dirilis Ertugrul Webseries Ertugrul Gazi webseries in Hindi

एर्तुग्रुल गाज़ी का इतिहास 





एर्तुग्रुल गाज़ी का इतिहास 13वीं शताब्दी में काई कबिलें से जुड़ा हैं। इनके पिता का नाम सुलेमान शाह था। जो ओगुज़ खान(काई) के खानदान से थे।

सुलेमान शाह जब काई कबिलें के सरदार थे तो उस समय मंगोलों (चंगेज़ ख़ान) का खौफ़ चारों तरफ था। मंगोलों के कारण ये पश्चिमी मध्य एशिया से अनातोलिया आकर बस गये।


एर्तुग्रुल जो एक महान शासक थे। उनकी वीरता को देखकर उन्हें गाज़ी की उपाधि से नवाजा गया।

उनके बेटे का नाम उस्मान था जो ऑटोंमन साम्राज्य से संबंध रखता हैं। एर्तुग्रुल गाज़ी के दो बेटे थे। एक गुनदुज़ दुसरा उस्मान थे।

उस्मान जो आगे चलकर एक महान योद्धा बना और कुस्तुन्तुनीया पर फ़तह हासिल किया। कुस्तुन्तुनीया जो आज का इन्स्तांबुल शहर हैं।


एर्तुग्रुल गाज़ी वेब सीरीज के बारें में

 


पूरी दुनिया की अब तक की सबसे चर्चित वेब सीरीज दिर्लिस एर्तुग्रुल जो तुर्की के एक महान शासक एर्तुग्रुल गाज़ी के इतिहास पर बनी हैं।

यह एक ऐसा वेब सीरीज हैं जिसे देखने के बाद इसे पूरा देखने की आपकी ललक और बढ़ जायेगी।

वाकई में यह एक जबर्दस्त वेब सीरीज हैं। मैंने खुद देखा हैं।

तो आइयें जानतें हैं इस वेब सीरीज के बारें में जो आपको देेेेेखने पर विवश कर देगा


पहली बार इस वेब सीरीज की शुरुआत तुर्की में 10 दिसम्बर 2014 को हुईं थीं लेकिन भारत में हम हाल ही में 2 महीना पहले से देख रहें हैं।

इस वेब सीरीज की प्रसिद्धि इतनी हैं की पूरी दुनियाँ के 80 से ज्यादा देशों में धरल्ले से तहल्का मचाये हुआ हैं।

जिसके निर्देशक मेटिन गुनाय थे। यह तुर्की की एक ड्रामा कंपनी के द्वारा निर्देशित वेब सीरीज हैं। और इस सीरीज के कुछ मुख्य किरदार निभाने एर्तुग्रुल गाज़ी (इजिन अल्तन दुज़ात्यान ), हलिमा सुल्तान (इसरा ब्लेगज ), हायमा हातून (हुल्या कोरेन डार्कन ), तुर्गुत (सेंज़ीग कोसकून), बांमसी (नूरेटिंग सोनमेज़  ), दोगान (केविट सेटीन) इत्यादि।

यह एक धार्मिक तथ्य पर आधारित सीरीज हैं जो तुर्की में इस्लाम धर्म के इतिहास के बारें में बताता हैं।

तुर्की में स्थित इन्स्तांबुल शहर जो आज पर्यटकों और फ़िल्म शूटिंग के दृष्टिकोण से बहुत प्रसिद्द है ये पुराने समय में कभी कुस्तुन्तुनीया कहलाता था। जहाँ शैलेवी(क्रिश्चियन) इस वेब सीरीज के तथ्य के अनुसार, का वर्चस्व था।

लेकिन ये इस्लाम धर्म के मानने वाले तुर्क लोगों को मारकर वर्चस्व कायम किये थे। इसलिए तुर्क कबीला इसे किसी भी हाल में जितना चाहता था। इन्हीं कबीलों में एक छोटा सा कबीला था काई कबीला जिसके सरदार थें एर्तुग्रुल गाज़ी।

इस वेब सीरीज से आधारित तथ्य 


इस वेब सीरीज की शुरुआत एक छोटे से काई कबिलें से होती हैं जिसके सरदार रहते हैं सुलेमान शाह।

और इनके तीन बेटों में सबसे बेबाक, तेज, दिन की खातिर जान देने वाला और इमान की राह पर अडिग रहने वाला एर्तुग्रुल जो आगे चलकर अपने कबिलें का सरदार बनता हैं।

लेकिन सरदार बनने से पहले इनकी जिंदगी की राह आसान नहीं रहती हैं। वे तरह-तरह के मुसीबतों का सामना करते हैं। उनके कबीलों पर हमेशा से दुश्मनों की नजर रहती हैं।

दुश्मनों में अपने ही कबीलें के कुछ गद्दार, शैलेवी (क्रिश्चियन) , मंगोल, कुछ लुटेरे डाकू  होते हैं।

लेकिन इन सब मुसीबतों का सामना करते हुए एर्तुग्रुल अपने राह से कभी नहीं भटकते हैं।

इनपर तरह-तरह के जुल्म किये जाते हैं फिर भी ये अपने दिन की खातिर अपने ईमान से नहीं भटकते हैं। और हर मुसीबतों का सामना करते हुए इस्लाम धर्म के परचम को हमेशा असमान की बुलंदियों में लहराते हैं।

इनके कबिलें का हर एक सिपाही की भूमिका काबिलें तारीफ़ हैं।जैसे:तुर्गत,बांमसी,दोगान(काल्पनिक नाम) इत्यादि।


कुछ दर्दनाक तथ्य इस वेब सीरीज के 


इस सीरीज के सबसे खतरनाक विलेन का रोल मंगोल कमांनडर के रूप में नोयान(काल्पनिक नाम) का हैं। वाकई में क्या गजब का रोल किया हैं इस बंदे ने।

लेकिन सरदार के रूप में एर्तुग्रुल ने क्या भूमिका निभाई हैं। जबर्दस्त।

जब आप सीरीज 2 में पहुंचेंगे तो सीरीज 1 से ज्यादा खतरनाक दृश्य सीरीज 2 में देखने को मिलेगा।

नोयान जो एक मंगोल कमांडर रहता हैं बहुत ही खूंखार रहता हैं। वो इतना खूँखार रहता हैं की उसके सामने युद्घ में कोई भी आ जाये बच्चें, बुढ़े, औरतें किसी को भी नहीं छोड़ता हैं।

जब नोयान एर्तुग्रुल को बन्दी बनाता हैं तो उनपे तरह-तरह के जुल्म करता हैं उनके हाथ में किल ठोक देता हैं जो मेरे हिसाब से इस वेब सीरीज का सबसे दर्दनाक सीन हैं। दिल सहम जायेगा।

फिर भी  एर्तग्रुल हार नहीं मानते हैं और अपने पथ से भटकते नहीं हैं। अपने ईमान पे कायम रहते हैं।

इनका कबीला जो स्थायी नहीं रहता हैं इन्हें स्थायी बनाने की जद्दोजहद में इन्होनें अपने भाईयों तक को छोड़ दिया और अपनी कौंम अपने समुदाय के लोगों के लिए इन्होनें बहुत सारी कुर्बानियां सही।

इन सब जद्दोजहद के बाद अपने कबिलें को लेकर सरहद पर पहुँचते हैं। सरहद जहाँ ये अपना जिंदगी बेखौफ़ जिएंगे। किसी का डर नहीं। बिल्कुल स्वतंत्र रूप से।

यहाँ भी इनकी जिंदगी आसान नहीं रहतीं हैं। यहाँ भी इन्हें कड़ा इम्तहान देना पड़ता हैं।

आगें जब आपलोग देखेंगे तो पता चलेगा। वाकई में काबिलें तारीफ़ वेब सीरीज हैं पूरी दुनिया इस वेब सीरीज की कायल हो गई हैं।


इस वेब सीरीज की ख्याति के बारें में 


इस वेब सीरीज को अमेरिका और यूरोप में तुर्की का गेम ऑफ थ्रोंस कहा गया हैं।

आज पुरे दुनिया में इसके फैन फॉलोवर की संख्या तेजी से बढ़ रही हैं। जो एक विश्व रिकॉर्ड होगा। और इसकी लोकप्रियता भारत में भी देखने को मिल रही हैं।

चूँकि यह एक इस्लाम धर्म से आधारित सीरीज हैं तो यह मुस्लिम समाज को अपने तरफ़ ज्यादा आकर्षित कर रही हैं।

इस वेब सीरीज देखने का बेस्ट वेब साइट 


Giveme5.com urdu में हैं जो आपको अच्छी क़वालिटि का वीडियोज दिखायेगा।


Post a comment

0 Comments